Lifestyle

जब बुलाये फेस बुक फ्रेंड. |

जब बुलाये फेस बुक फ्रेंड. |

आजकल सोशल मीडिया पर दोस्ती करना एक फैशन सा बन गया है | लेकिन इस फ्रेंडशिप मे कई सावधानियां बरतने की ज़रूरत है , नहीं तो यह हसीं मुलाकात हादसे मे बदलते देर नहीं लगती | क्योंकि कई कहानियां सामने आयी है जिसमे फेसबुक पर फ्रेंडशिप हुई और उसके बाद प्यार मे धोका मिला | कुछ सलाह मन कर और कुछ सावधानियां बरतने से आप इस जाल से बच सकते है |

आकर्षण का बढ़ना - आप अश्लील चैट ब्लॉक कर सकती है , जिससे आप सिर्फ नार्मल बातचीत कर सकेगी | जो लड़कियां अकेले पन का शिकार है , वो इस जाल मे आसानी से फस्ती हैं |

माता पिता को चाहिए की जिनके बच्चे बालिग नहीं है , उन्हें फेसबुक अकाउंट न खोलने दे | कम उम्र की लड़कियां इस फेक प्रोफाइल के झांसे मे ज़्यादा फस्ती है |

आजकल ऐसे फेक प्रोफाइल काफी बनते है जिसमे पीछे वाला इंसान अपनी उम्र छुपाता है,और युवतियां इस जाल मे फंस जाती है | कभी भी बहुत जल्दी फ्रेंडली नहीं होना चाहिए | हमेशा धीरे धीरे आगे बढ़ना चाहिए | हमेशा बात करते वक़्त सावधानी बरते , की वो शास्क ग्रुप मे तो चाट नहीं कर रहा |

 

जब आप मिलने जाए |

अगर आप अपने परिवार मे बता नहीं सकती , तो सहेली एक अच्छा ऑप्शन है | कोई दबंग सहेली को साथ मे ले जाये | हमेशा कॉमन प्लेस मे मिले | या तो किसी भीड़भाड़ वाली जगह पर ही मिले | अकेले और सुनसान जगह अवॉयड करें | जब आप उससे मिले तो परखे की वह सच बोल रहा है या नहीं | जो उसने फेसबुक पर बताया था वो सही था या झूठ था | और अगर कहीं साथ जाना हो तो अपनी गाड़ी मे जाये , उसकी गाड़ी मे न जाये |

यह छोटी छोटी सावधानी रखने से आपकी ज़िन्दगी खुशनुमा और बेहतर बन सकती है , और आप धोके का शिकार नहीं होगी |

 

Parul Anand